सुरक्षा

देनाइकनेक्ट - इंटरनेट बैंकिंग कितना सुरक्षित है?

देना बैंक ने आपको सुरक्षित इंटरनेट बैंकिंग सेवा प्रदान करने के लिए अपनी ओनलाइन बैंकिंग सेवा में व्यापक विशिष्टताएं रखी  हैं.

          

  • फायरवाल :
  • यह एक वरचुअल इलेक्ट्रोनिक सुरक्षा कवच है जो देना बैंक सरवर के अनाधिकृत प्रयोग को रोकता है.
            
  • एन्‍क्रिप्शन :
  • आपका डाटा और मेसेज सुरक्षित ई - वाणिज्य और गोपनीय संपर्क के लिए अपेक्षित 128 - बिट एस.एस.एल. मोड एन्‍क्रिप्शन तकनीक पर चलते हैं. यह इंटरनेट पर संपर्क और लेनदेन के लिए उपलब्ध सबसे उच्च स्तर की सुरक्षा है. एस.एस.एल. यह भी सुनिश्चित करता है कि सूचना सही जगह भेजी गई है और किसी ने उसमें हेर फेर नहीं किया है. 
            
  • डिजिटल प्रमाण पत्र :
  • देना बैंक इंटरनेट बैंकिंग साइट वेरिसाइन प्रमाणित है. वेरीसाइन, इंक. वेबसाइटों, उद्यमों, इलेक्ट्रॉनिक वाणिज्य सेवा प्रदाताओं और व्यक्तियों को विश्वस्त संरचनात्मक सेवाएं प्रदान करने में प्रसिद्ध प्रदाता हैं.
            
  • यूजर आई.डी. और पासवर्ड :
  • पासवर्ड सुरक्षा के दो स्तर, एक साइन ऑन के लिए और दूसरा लेन देन के लिए.
            
  • अप्राधिकृत प्रवेश :
            
    • यदि साइन ऑन पासवर्ड निरंतर तीन बार गलत एन्टर किया जाता है तो साइन ऑन पासवर्ड बंद हो जाएगा जिससे अप्राधिकृत प्रवेश रुक जाएगा.
              
    • यदि लेनदेन पासवर्ड लगातार तीन बार गलत एंटर किया जाता है तो लेनदेन पासवर्ड बंद हो जाएगा, जिससे अप्राधिकृत प्रवेश रुक जाएगा.
              
    • यदि आपने इंटरनेट बैंकिंग में लॉग ऑन किया है और 5 मिनट के लिए अप्लिकेशन का प्रयोग नहीं किया है तो , सिस्टम अपने आप ही आपको लोग आउट कर देगा. यह इसलिए किया जाता है कि , यदि आपके द्वारा इंटरनेट बैंकिंग से लोग आउट किए बिना कम्प्यूटर को खुला छोडा जाता है तो उसमें कोई अप्राधिकृत प्रवेश न कर सके.