देना किराया योजना



प्रयोजन

प्राप्त  कराये के समक्ष वित्तीयन हेतु -

कौन पात्र है  ?
मकान-मालिक व्यक्ति (अनिवासी भारतीयों सहित भारतीय नागरिक) कार्पोरट कंपनियां ,आदि, जिन्होंने अपनी सम्पत्तियों को किराये पर बैंकों /वित्तीय संथाओं /सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, प्रति''''ति लिमिटेड कंपनियों को दिया है (अर्थात् सम्पत्तियों के किरायेदार इन संथाओं में से कोई भी होने चाहिए )

सीमाएं
न्यूनतम : रु १ लाख
अधिकतम : रु ५०० लाख

ऋण का स्वरूप  : सावधि ऋण

मार्जिन :मासिक ब्याज की चुकौती सुनिश्चित करने के लिए निवल मासिक किराये का १० %

ब्याज दर :

होने वाली अद्यतन ब्याज दर जानने के लिए कृपया ब्याज दर खण्ड को देखें.

प्रोसेस शुल्क : स्वीकृत रकम का ०.५० % ,

प्रतिभूति : सम्पत्ति का साम्यिक रेहन 

चुकौती : 120 ईएमआई तक या अवशिष्ट पट्टे की अवधि जो भी कम हो


आवेदन प्रपत्र