अप्रवासी भारतीय जमा उत्पाद

अप्रवासी भारतीय जमा उत्पाद

अप्रवासी भारतीय / भारतीय मूल के व्यक्ति निम्नलिखित अप्रवासी जमा खाता खोल सकते हैं :-

देना एफ.सी.एन.आर.(बी) एज

देना एफ.सी.एन.आर.(बी) एज मूलतःमानक अनिवासी आवधिक जमा तथा वायदा कांट्रेक्ट को एक साथ शामिल करके तैयार की गई योजना है. यह उत्पाद सामान्य ब्याज आय के साथ विदेशी विनियम उतार चढ़ाव के समक्ष बचाव उपलब्ध कराता है.

नए उत्पाद की विशेषताएं वही रहेंगी जो नियमित एफसीएनआर (बी) जमा की हैं. तथापि, जमा केवल एक वर्ष की अवधि के लिए उपलब्ध रहेगी.इसके अतिरिक्त जमा खाते में बचाव विकल्प अंतर्निहित रहेगा. जमाखाता खोलने के दिन जमा की राशि की वायदा खरीद की जाएगी.

प्रमुख विशेषताएं:

· खाते का प्रकार – एफ सी एन आर(बी) जमा

· अवधि – केवल एक वर्ष

· न्यून्तम राशि – यूएसडी 5000 या उसके समान

· इन मुद्राओं में उपलब्ध – यूएसडी, यूरो, जीबीपी, सीएडी, एयूडी

· खाता खोलने के लिए निधियां – विदेश से आवक निधियां / एन आर ई खाते से परिवर्तन / विदेशी मुद्रा नोटों की आवक / यात्री चेक

· ब्याज दर – जैसे एक वर्ष की नियमित एफ सी एन आर(बी) जमा के लिए लागू है

· लाभ – परिपक्वता पर भारतीय रुपये में आश्वासित रकम.

· नामांकन – अनुमति है

· विदेश प्रेषण – अनुमति है

· संयुक्त खाता – अनुमति है

· मुख्तारनामा – अनुमति है

· जमाओं पर ऋण – जमाराशि के अधिकतम 85% तक.

· जमाराशि का समयपूर्व आहरण – अनुमति है*, तथापि, ब्याज का कोई भुगतान नहीं किया जाएगा. वायदा संविदा रद्द करने पर हानि, यदि कोई हो, खाता धारक द्वारा वहन की जाएगी.

· वायदा कवर को समय पूर्व रद्द करना – अनुमति नहीं है.

· कर लाभब्याज आय पर आयकर और संपत्ति कर से छूट प्राप्त है.

· प्रभार – वायदा कवर को बुक करने के लिए कोई प्रभार नहीं.

अप्रवासी (बाह्य) रुपया खाता योजना [एनआर (ई) आरए]

यह खाता भारतीय रुपयों में रखा जाता है. इसमें रखी रकम और ब्याज किसी भी परिवर्तनीय मुद्रा में मुक्त रूप से प्रत्यावर्तनीय है.

मुख्य विशेषताएँ :

  • यह खाता बचत, चालू, आवर्ती और सावधि जमा खाता के तौर पर किसी भी रूप में रखा जा सकता है. देना बैंक में सावधि जमा खाता 1 से 10 वर्षों तक रखा जा सकता है.
  • अर्जित ब्याज पर कोई आयकर नहीं.
  • खाते में रखी शेष रकम संपत्ति कर / उपहार कर से मुक्त है.
  • नामांकन सुविधा उपलब्ध है.
  • अप्रवासी भारतीयों और/ या निवासियों के साथ संयुक्त खाते खोलने की अनुमति है.
  • जमा राशि के एवज़ में ऋण सुविधा उपलब्ध है.
  • प्रवासी खाते का परिचालन प्राधिकार पत्र अथवा मुख्तारनामा के तहत कर सकते हैं.
  • संपूर्ण रकम के लिए विदेशी मुद्रा का रूपांतरण बाजार दर पर किया जाता है.

एनआरई एफएओ को देखने के लिए यहाँ क्लिक करें.

विदेशी मुद्रा अप्रवासी खाता (बैंक) योजना (एफसीएनआर -बी)

यह खाता विदेशी मुद्रा में रखा जाता है और इस तरह विदेशी विनिमय दरों में उतार-चढ़ाव के विरुद्ध पूरी सुरक्षा प्रदान करता है.

मुख्य विशेषताएँ :

  • रखी हुई राशि प्रत्यावर्तनीय है (मूल राशि के साथ ब्याज).
  • यह खाता देना बैंक में  5 मुद्राओं अर्थात् यूएस डॉलर, पाउण्ड स्टर्लिंग, यूरो, ऑस्ट्रेलियन डॉलर, कैनेडियन डॉलर में खोला जा सकता है.
  • इस खाते में अर्जित किया गया ब्याज आयकर के अधीन नहीं है और रखी हुई राशि पर उपहार / संपत्ति करों से छूट है.
  • इस खाते का रख-रखाव सावधि खाते के रूप में १ वर्ष से कम और ५ वर्षों से अधिक के लिए नहीं किया जाता है.
  • नामांकन सुविधा उपलब्ध है.
  • अप्रवासी भारतीयों के साथ संयुक्त खाते खोलने की अनुमति है.
  • जमा राशि के एवज़ में ऋण सुविधा उपलब्ध है.
  • प्रवासी खाते का परिचालन प्राधिकार पत्र अथवा मुख्तारनामा के तहत कर सकते हैं.

एफसीएनआर  (बी) एफएओ को देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

अप्रवासी साधारण रुपया खाता योजना (एनआरओ)

यह खाता भारतीय रुपयों में रखा जाता है और सामान्यतया इसका परिचालन रुपए अर्जन / आय जैसे बचत, चालू, सावधि जमा, आवर्ती जमा अर्थात् लाभांश, ब्याज आदि को जमा करने के लिए किया जाता है. मुख्य विशेषताएँ :

  • इसका रख-रखाव बचत, चालू, सावधि जमाओं, आवर्ती जमाओं के रूप में किया जाता है.
  • भारतीय आयकर के अंतर्गत इस खाते पर अर्जित ब्याज आयकर योग्य देय है.
  • प्रयोज्य करों के भुगतान के अधीन प्रति वित्तीय वर्ष १ मीलियन अमेरिकी डॉलर तक प्रत्यावर्तन की अनुमति है.
  • अप्रवासी भारतीयों और प्रवासियों के साथ संयुक्त खाता खोलने की अनुमति है.
  • भारत में ऋण लेने की अनुमति है.
  • इसका इस्तेमाल स्थानीय संवितरण के लिए किया जा सकता है और स्थानीय रसीद इस खाते में जमा की जा सकती है.
  • प्रवासी इस खाते का परिचालन प्राधिकार पत्र अथवा मुख्तारनामे के अधीन कर सकते हैं.

एनआरओ  एफएओ  को देखने के लिए यहाँ क्लिक करें