अन्य सेवाएँ

विदेशी मुद्रा अर्जक विदेशी मुद्रा खाता (ईईएफसी)

देना बैंक विदेशी मुद्रा अर्जक विदेशी मुद्रा खाता (ईईएफसी) के रूप में खाते खोलने, रखने और उसका रख-रखाव करने के लिए भारतीय निवासियों को प्रस्ताव देता है. इस खाते का रख-रखाव बिना ब्याज वाले चालू खाते के रूप में किया जाएगा. निर्यातकर्ता इस खाते में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा विनिर्दिष्ट सीमाओं तक प्राप्य अपनी विदेशी मुद्राओं को रख सकते हैं.

निर्यातकर्ताओं द्वारा इस खाते में रखी गई शेष राशि का उपयोग भारतीय रुपयों एवं / अथवा विदेशी मुद्रा में पैकिंग साख अग्रिमों को चुकाने के लिए किया जा सकता है. आयातकर्ता चाहें तो उसमें से विदेशी आयातकर्ताओं को फेमा दिशानिदेशों के अनुपालन की शर्त पर ईईएफसी खाते में व्यापार संबंधित ऋण / अग्रिम भी दे सकते हैं.

डायमण्ड डॉलर खाता (डीडीए)

यह एक विदेशी मुद्रा खाता है जो खुरदरे अथवा कटे व पॉलिश किए हीरों, हीरा जड़ित आभूषणों की खरीद / बिक्री में संलग्न संस्थानों / कंपनियों के लिए है. पिछले तीन वर्षों के दौरान रु.५ करोड़ अथवा उससे अधिक के वार्षिक औसत पण्यावर्त सहित हीरों के आयात / निर्यात में कम से कम तीन वर्षों के अच्छे रिकार्ड वाले ऐसे संस्थानों को नामित डायमण्ड डॉलर खातों के माध्यम से उनका व्यापार चलाने की अनुमति दी जाती है. डीडीए योजना के तहत, बैंक के लिए यह एक आदेश होगा कि वह डीडीए धारक को स्वीकृत किया गया पीसीएफसी उसके द्वारा दूसरे डीडीए धारक को डॉलर में बेचे गए खुरदुरे, कटे और पॉलिश किए गए हीरों की रकम से परिसमाप्त करे.

ख़ज़ाना परिचालन

देना बैंक के पास अद्यतन सॉफ्टवेयर प्रणाली एवं संचार तकनीकों सहित विशिष्टिकृत समेकित ख़ज़ाना परिचालन है. हम सेवाओं और उत्पादों की संपूर्ण श्रृंखला की सुविधा उपलब्ध कराते हैं जैसे कि बड़ी विदेशी मुद्राओं की खरीद / बिक्री, वायदा करार की बुकिंग इत्यादि. एक संपूर्ण लेन-देन परिचालन कक्ष एवं अंतरबैंक विदेशी विनिमय बाजार में हमारी मजबूत उपस्थिति ग्राहकों को बेहतर विनिमय दर का प्रस्ताव करने में हमें समर्थ बनाते हैं.

विस्तृत सूचनाओं / जानकारी के लिए कृपया आपके समीप हमारी
अधिकृत विक्रेता शाखाओं से संपर्क करें.