मनोरंजन उद्योग

फिल्म उद्योग के वित्तीयन की योजना

योजना की व्याप्ति

सिनेमा प्रदर्शन  (प्रमाणन) नियम,१९८३ के तहत यथापरिभाषित फीचर फिल्मों के निर्माण का वित्तीयन.

गठन / पात्र उधारकर्ता

प्रतिष्ठित निर्माताओं द्वारा प्रवर्तित, सुस्थापित निर्देशकों एवं संतोषजनक पिछला रिकार्ड रखने वाले अन्य तकनीशियनों द्वारा समर्थित कार्पोरेट संस्था.

सहायता की मात्रा

सामान्यतया, फिल्म की अनुमानित लागत के ४० से अनधिक या रु. ५००० लाख, इनमें से जो भी कम हो.

ऋण- ईक्विटी अनुपात

दीर्घावधिक ऋण-ईक्विटी अनुपात १:१ से अधिक नहीं.

प्रवर्तकों का अंशदान

  • फिल्म की अनुमानित लागत के ३३ से कम नहीं,  
  • जो क्षेत्रों, संगीत/वीडियो अधिकारों की बिक्री के समक्ष वितरकों से अग्रिम के रूप में जुटाई गई हो. 

ऋण की अवधि 

सामान्यतया दो वर्ष से अधिक नहीं.

लाभ में हिस्सेदारी 

बैंक फिल्म की बाहरी हिस्सेदारी के अधिकार को मामला-दर-मामला आधार पर निर्धारित की जाने वाली विधि से सुरक्षित रखेगा.

प्रतिभूति 

  • फिल्म प्रसंस्करण प्रयोगशाला से फिल्म की निगेटिवों पर बैंक के पक्ष में अधिकार सूचित करने वाला पत्र. 
  • सभी करारों और बौद्धिक संपदा अधिकारों का बैंक के पक्ष में समनुदेशन. समस्त बौद्धिक संपदा अधिकारों के मूल्यांकन के परक्रामण में बैंक को अधिकार प्राप्त होगा. 
  • सभी पूंजीगत एवं राजस्व अंतर्प्रवाहों और बहिर्प्रवाहों  के लिए एक न्यास एवं प्रतिधारण खाता (टीआरए) रखा जाएगा. समस्त बौद्धिक अधिकारों की बिक्री से प्राप्य राशियां इसी टीआरए में जमा की जाएंगी. उक्त टीआरए के तौर-तरीके बैंक की संतुष्टि के अनुसार निर्धारित किए जाएंगे. टीआरए व्यवस्था हेतु सभी सम्बद्ध पक्षों से अनापत्ति प्रमाणपत्र आवश्यक होगा.  टीआरए पर बैंक का प्रथम प्रभार होगा. 
  • उक्त परियोजना के तहत समस्त मूर्त चल परिसंपत्तियों पर पहला दृष्;बिंधक प्रभार. 
  • संगीत, वीडयो, इंटरनेत, सीडी, डीवीडी अधिकारों, लाइब्रेरी या परानी हिट फिल्मों आदि जैसे विद्यमान अधिकारों का समनुदेशन. 

बीमा सुरक्षा


फिल्म का व्यापक रूप से बीमित कराया जाना आवश्यक होगा.

संपार्श्विक

समय-समय पर बैक की नीति के अनुसार.